Love Shero Shayari In Hindi Part 5 shayari in hindi

Love Shero Shayari in hindi Part 5

Previous Page 

अब हम न तुम्हे खोना चाहते हैं,
अब न तुम्हारी यादों में रोना चाहतें हैं,
बस तुम्हारा साथ मिले हमे हर पल,
अब बस इतनी सी बात तुमसे कहना चाहते हैं।

सफर वहीं तक जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक जहां तक तुम हो,
हज़ारों गुल देखें हैं गुलशन में हमने,
पर खुशबू वहीं तक जहां तक तुम हो।

धीरे से आकर हमारे दिल में उतर जाते हो,
खुशबू की तरह मेरी सांसो में बिखर जाते हो,
अब तो तुम्हारे इश्क में ये हाल हो गया है,
सोतें जागते बस तुम ही तुम नजर आते हो।

दीवाना हूँ तेरा मुझे इंकार तो नही,
कैसे मैं कह दूँ मुझे प्यार नही,
कुछ शरारत तो तेरी निगाहों की भी थी,
मैं अकेला इसका गुनहा गार तो नही।

ख्वाइश है तुझे अपना बनाने की,
और कोई ख्वाइश नही इस दीवाने की,
शिकायत मुझे तुझसे नही खुदा से है,
क्या ज़रूरत थी तुझे इतना खूबसूरत बनाने की।

हर फैसला किया नही जाता सिक्का उछाल के,
ये दिल का मामला होता है जरा देख-भाल के
तुम क्या जानो हमे तुमसे कितनी मोहब्बत है,
कहो तो अभी रख दूँ अपना कलेजा निकल के।

वो आँखों से अपनी शरारत करते हैं
वो अपनी अदाओं से कयामत करतें हैं।
हमारी निगाहें उनके चहरे से हठतीं नही,
और वो हमारी निगाहों की शिकायत करतें हैं।

Previous Page 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here